अनमोल सुक्ति कोश-5

-प्रेमचंद्र
जो एक बार धोखा कर चुका हो, उसका विश्वास न करो।
-शेक्सपियर
जिसे अपने पर विश्वास नहीं उसे भगवान पर विश्वास नहीं हो सकता।
-शेक्सपियर
विश्वास क्या है? स्वयं को ईश्वररेच्छा पर छोड़ देना।
-स्वामी रामदास
विपत्ति से बढ़कर तजुर्बा सिखाने वाला विद्यालय आज तक नहीं खुला।
-प्रेमचंद


प्रत्येक कार्य को हिम्मत और शांति के साथ करोµयही सफलता का साधन है।
दुनिया की सबसे मूल्यवान वस्तु समय।
-कहावत
सोचने वाले सोचते रह जाते हैं, करने वाले कर गुजरते है
-व्हाट हिटमैन
विशुद्ध हृदय वाले सज्जनों की बुद्धि कमी मंद नहीं होती।
-बाल्मिकी रामायण
शरीर बल से प्राप्त सत्ता मानव देह की तरह क्षणभंगुर रहेगी जबकि आत्मबल से प्राप्त सत्ता आत्मा की तरह अजर और अमर रहेगी।
-महात्मा गांधी
एक बार संदेह का बीच मन मे ंपड़ जाने पर व्यक्ति जैसे अपने शत्राु-पक्ष पर संदेह करना सीख जाता है, वैसे ही मित्रा-पक्ष से भी उसका विश्वास उठ जाता है।
-शरतचंद
जिसे संदेह है उसे कहीं ठिकाना नहीं। उसका विनाश निश्चित है। वह रास्ते चलता हुआ भी नहीं चलता है, क्योंकि वहजनता ही नहीं कि मैं कहां हूँ?
नीति का वचन है कि मित्राता और शत्राुता बराबर वाले से करनी चाहिए। शेर यदि मेढकों को मार डाले, तो कोई उसको भला कहेगा?
-गोस्वामी तुलसी दास
भावना, ज्ञान और कर्म जब एक समय पर मिलते है तभी युगप्रर्वतक साहित्यकार प्राप्त होता है।
-महादेवी वर्मा
कोई भी मनुष्य साहसी नहीं हो सकता, जो पीड़ा को जीवन की सबसे बड़ी बुराई समझता है।
-सिसरो
सावधानी बुद्धि का सबसे बड़ी संतान है।
-क्विटर ह्यूगो
आप अपनी सफलता का अनुभव इस बात से भी लगा सकते है कि अन्य व्यक्ति आपका कितना विश्वास करते है और आपको निर्बल अथवा भीरू नहीं समझते।
-स्वेट मार्टेन
समझदारी का एक लक्षण यह है कि दुस्सास न करें।
-थोरे
साधू वही है जो अपने साथियों की सेवा करता है और आपस में प्रेम संबंध स्थापित करता है।
-राधाकृष्ण
भौरा भी भनभनाता है जब तक कमल पर बैठकर मधुपन नहीं करने लगता। मनुष्य तभी तर्क-विर्तक और वाद-विवाद करता है, जब तक उसे ईयवर का साक्षत्कार नहीं हो जाता।
-स्वामी रामकृष्ण परमहंस

Comments

Popular posts from this blog

हृदय से मुस्कराना सीखें

दृढ़ निश्चय

निर्णय लेना सीखें